इलेक्ट्रिक स्कूटर ग्राहकों को नहीं पता मिड माउंटेड मोटर और हब मोटर में क्या अंतर है?

इलेक्ट्रिक टू व्हीलर खरीदते समय ग्राहक उसकी रेंज, बैटरी क्षमता, मोटर पावर, टॉप स्पीड और बैटरी चार्ज होने का समय जैसी सभी चीज़ों को सबसे पहले प्राथमिकता देते हैं. लेकिन इलेक्ट्रिक टू व्हीलर में एक मुख्य चीज होती है जो कि इलेक्ट्रिक टू व्हीलर को पावर देने का काम करती है. और ग्राहक इलेक्ट्रिक टू व्हीलर खरीदते समय उसे चीज पर ध्यान नहीं देते हैं. हम बात कर रहे हैं इलेक्ट्रिक टू व्हीलर को पावर देने वाली इलेक्ट्रिक मोटर के बारे में.

यह पढ़े:- OLA को जल्द पीछे छोड़ेगा ये इलेक्ट्रिक स्कूटर! सिंगल चार्ज में देता है 212 किलोमीटर की रेंज

इलेक्ट्रिक मोटर के प्रकार

कई लोगों को इस बात की जानकारी नहीं होगी कि भारतीय बाजार में बिकने वाले इलेक्ट्रिक स्कूटर या इलेक्ट्रिक बाइक में दो मुख्य प्रकार की मोटर का इस्तेमाल किया जाता है, जो Permanent Magnet Synchronous Motor (PMSM), और Brushless DC (BLDC) Motor! इन इलेक्ट्रिक मोटर को दो मुख्य श्रेणियां मिड माउंटेड और हब माउंटेड में विभाजित किया गया है.

भारतीय मार्केट में सबसे ज्यादा बिकने वाले इलेक्ट्रिक टू व्हीलर लिस्ट में आने वाले 10 इलेक्ट्रिक टू व्हीलर ब्रांड अपने टू व्हीलर में हब मोटर का इस्तेमाल करते हैं. जैसे कि ओला इलेक्ट्रिक के S1 Air और s1x मॉडल में हब मोटर दी गई है. वही टीवीएस की iQube में भी हब मोटर मिलती है.  इनमें से लगभग सभी ब्रांड द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली हब मोटर BLDC प्रकार की है.

यह पढ़े:- OLA की पहली इलेक्ट्रिक मोटरसाइकिल जल्द होगी लॉन्च, यह होगी ओला की पहली इलेक्ट्रिक बाइक, देखिये

मिड माउंटेड और हब माउंटेड में अंतर

मिड माउंटेड मोटर स्कूटर में फ्रेम या फिर बीच में मोटर लगी होती है. वही Hub Mounted मोटर्स पहिए में माउंट होती है या यूं कहें कि लगी होती है. इसे रफ ऐंड टफ यानी उबर खाबड़ सड़क पर चलाने में परेशानी होती है. पीछे की रिम में मोटर लगी होने की वजह से स्कूटर चलाते समय इसे टूटने फूटने या फिर निकलने का खतरा बना रहता है. हब माउंटेड मोटर चलते समय ना के बराबर आवाज करती है.

Leave a Comment

Join WhatsApp!